पाकिस्तानी झंडा फहराने से क्या फर्क पड़ता है? – मुस्तफा कमाल

June 4, 2015 10:38 am

mustafa-kamal-leader-national-conferenceनई दिल्ली। कश्मीर में अलगावादियों के द्वारा पाकिस्तानी झंडा फहराने पर चल रहे विवादों की कड़ी में एक और नाम जुड़ गया है। नैशनल कॉन्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के चाचा मुस्तफा कमाल ने बुधवार को सवाल किया कि केंद्र सरकार इसे लेकर ‘परेशान’ क्यों है। उन्होंने यह कहकर विवाद को आगे बढ़ाने की कोशिश की कि कश्मीर में पाकिस्तान का झंडा लहराने में कुछ भी गलत नहीं है, हालांकि उनके इस बयान पर उमर अब्दुल्ला का कहना है कि उनकी पार्टी इन तरह के विचारों के विरुद्ध है।

मुस्तफा कमाल ने बयान में मालूम किया कि केंद्र सरकार इसे लेकर क्यों परेशान है, उन्होंने कहा कि भारत को पड़ोसी देश के झंडे का #सम्मान करना चाहिए। पाकिस्तान का झंडा फहराने से क्या अंतर आता है? भारत सरकार अब बेचैन हो रही है, ज्यादा परेशान हो रही है। ऐसा जानबूझकर किया जा रहा है।

मुस्तफा ने मीडिया से कहा कि यह एक आजाद देश पाकिस्तान का झंडा है और भारत को इसका सम्मान करना चाहिए। भारत और पाकिस्तान दोनों संयुक्त राष्ट्र के घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर कर चुके हैं और दोनों को एक दूसरे के झंडे का सम्मान करना होगा। उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तानी, भारत अथवा जम्मू-कश्मीर का झंडा केवल कागज के टुकड़े नहीं है, सब के साथ सम्मान जुड़ा है।


Facebook Comments