आफ्टरऑल हम देश के रिस्पॉन्सिबल सिटिजन हैं

November 19, 2014 8:39 pm

यहां उम्र जितनी भी हो जाए, लेकिन चेहरे पर पैसे की चमक सबको एवरग्रीन यंग रखती है

batnbtआपने सुना कंट्री में क्लीनलीनेस के लिए ब्रैंड अंबेसडर बनाए जा रहे हैं। हमको भी इस कॉज के लिए कंट्रीब्यूशन देना चाहिए। पीएम का कॉल है। आफ्टरऑल हम देश के रिस्पॉंसिबल सिटिजंस हैं। हमारा भी कुछ मॉरल ड्यूटी बनता है। कैसे पता चलेगा कि हमारा सोशल ऑब्लिगेशन कितना स्ट्रॉंग है।’शहर के इलीट क्लब में यही हॉट डिस्कशन था। एक तरफ किटी की टेबल पर विदेशी परफ्यूम में तर-बतर मोहतरमाएं और दूसरी तरफ बिलियर्डस की टेबल पर शाट लेते हुए जेंटलमैन। साइड टेबल पर करीने से क्रिस्टल के पैमाने भी सजे हुए हैं। बातों के साथ धीरे-धीरे सिप भी लिए जा रहे हैं।

‘यंग लेडीज एंड यंग मेन, योर काइंड अटैन्शन प्लीज (यहां उम्र जितनी भी हो जाए, लेकिन चेहरे पर पैसे की चमक सबको एवरग्रीन यंग रखती है) क्या प्रपोजल्स हैं क्लीनलीनेस ड्राइव के लिए। सोशल फंड से अभी एडवांस पास करा लेते हैं। डिलीवरी डे पर कोई दिक्कत नहीं आएगी।’सबसे पहले मिसेज दारूवाला उठती हैं- ‘मेरे ख्याल से इलीट क्लब से सिटी मॉल तक पर क्लीनलीनेस मार्च निकाला जाए। वो एरिया पॉश है पहले से ही बहुत साफ रहता है। वहां कुछ पत्ते वगैरा गिरवा देंगे जिससे हम उन्हें ब्रूम करते दिखा सकें। वहां आसपास कोई पेड़ नहीं है। इसलिए अपने पार्क के गार्डनर को पहले ही कह देते हैं कि वहां पहले जाकर कुछ पत्ते स्प्रैड कर दे। इस अकेजन के लिए न्यू ब्रूम्स को खरीद कर उन्हें पहले प्रॉपरली सेनेटाइज करा लिया जाएगा। हाईजीन का तो ध्यान रखना ही पड़ेगा। हमारे जैसी सेलिब्रटीज इस क्लीनलीनेस ड्राइव में हिस्सा लेंगी तो शहर के आम लोगों को इससे अच्छा इंसपिरेशन मिलेगा।’ मिसेज दारूवाला की बात खत्म होने से पहले ही तालियों से क्लब गूंज उठता है।मिस्टर हाथी तत्काल मिसेज दारूवाला के प्रपोजल को सेकंड करते हैं- ‘हां तो ठीक रहा, कल हम सब क्लब में मिल रहे हैं। पहले वेलकम मेनू सेट कर लिया जाए। हाई टी और जूस के साथ चीज सैंडविच और गार्लिक ब्रेड ठीक रहेगी। भई हम सारे ही कलरी-कॉंशियस हैं। ऐसा है सब को फिजीकली लेबर करना है तो सब को पाकेट में रखने के लिए ड्राई-फ्रूट्स के पैक दे दिए जाएंगे। एनर्जी का लेवल मेंटेन रहेगा। आपसे एक रिक्वेस्ट है, ड्राई-फ्रूट्स के पैक पाकेट में ही रखिएगा। ओपन करने से आम लोगों में अच्छा मैसेज नहीं जाएगा।’

अभी मिस्टर हाथी ने अपनी बात भी पूरी नहीं की थी कि लड़खड़ाते कदमों से मिस्टर पीके माइक के पास आकर बोले- ‘अरे मिस्टर हाथी मरवाएंगे क्या। इतनी फिजिकल लेबर। वो भी सूखे-सूखे। गला तर करने का भी कोई प्रपोजल होगा या नहीं।’ इस पर मिस्टर हाथी ने जवाब दिया- ‘मिस्टर पीके, यू भी न टू मच। बड़ी जल्दी वरी करने लग जाता है। अरे क्लीनलीनेस ड्राइव के बाद सिटी माल के ओपन टेरेस रेस्तरां में कॉकटेल का भी अरेजमेंट रख लेते हैं। वैसे एक मोबाइल कार-ओ-बार भी क्लीनलीनेस ड्राइव के साथ-साथ चलेगी।’

अभी ये बात चल ही रही थी कि मिस कलरफुल खड़ी हो गईं- ‘मिस्टर सेक्रेट्री, हमको आपसे एक शिकायत होता। पिछली बार वीमेन सेफ्टी इश्यू पर कैंडल लाइट मार्च निकाला था तो आपने प्रेस के जिन लोगों को इन्वाइट किया था, उन्हें जरा भी न्यूज-सेंस नहीं था। मैंने उस ओकजन के लिए चेन्नई से स्पेशल कांजीवरम की साड़ी मंगाया था। लेकिन अगले दिन पेज थ्री पर मेरा एक भी फोटोग्राफ नहीं छपा। मेरा दस हजार रुपया पानी में चला गया। इस बार उन्हें पहले से ही अलर्ट कर दीजिएगा कि क्लीनलीनेस ड्राइव को कवर करते हुए वैसा सिली मिस्टेक न हो। चाहें तो एंगल वगैरहा सेट करने के लिए एक बार रिहर्सल भी कर लेते हैं।’ सभी रिस्पेक्टेड लेडीज ने मिस कलरफुल की बात को जोरदार क्लैपिंग के साथ एप्रिशिएट किया। इसके बाद सभी ने आखिरी नोट पर क्लीनलीनेस ड्राइव की सक्सेस के लिए चीयर्स किया।

 मूलत: प्रकाशित- नवभारत टाइम्स, 19 नवंबर 2014

Tags:

Facebook Comments