आज का हीरो कार्तिक

April 30, 2014 6:00 pm
Bravo Kartik talking to Chiranjivi

Bravo Kartik talking to Chiranjeevi

हैदराबाद। शाबाश कार्तिक। आपने रसूख के सरुर में डूबे मंत्री की अक्ल ठिकाने लगा दी। अभिनेता से नेता फिर केंद्र सरकार में मंत्री बने चिरंजीवी बुधवार को हैदराबाद की खैराताबाद सीट के पोलिंग बूथ पर वोट डालने के लिए पहुंचे। साथ में पत्नी, बेटी और अभिनेता बेटा रामचरण तेजा भी थे। बूथ पर वोटर्स की लंबी लाइन लगी थी। लेकिन मंत्री जी तो ठहरे मंत्री। धड़धड़ाते हुए लाइन की परवाह किए बिना सबसे आगे पहुंच गए। ये देखकर लाइन में लगे युवा वोटर कार्तिक ने विरोध किया। मंत्री से कहा- “क्या आपको खास ट्रीटमेंट की ज़रूरत है। आप केंद्रीय मंत्री होंगे। लेकिन आप सीनियर सिटीजन नहीं है। आपको परिवार के साथ लाइन को नहीं तोड़ना चाहिए।“

ये सुनने के बाद लाइन में लगे सभी वोटर भी कार्तिक के लिए ताली बजाने लगे। कार्तिक ने कहा कि वो लंदन से आया है और एक घंटे से लाइन में अपनी बारी का इंतज़ार कर रहा है। लोगों का मूड भांपकर चिरंजीवी ने कार्तिक को मनाने की कोशिश की। चिरंजीवी ने सफ़ाई के अंदाज़ में कहा कि वो नियम नहीं तोड़ते, वो तो ये देखने आगे आए थे कि वोटर लिस्ट में उनका नाम है या नहीं। आखिरकार 58 वर्षीय चिरंजीवी को लाइन में पीछे जाना पड़ा। चिरंजीवी के बेटे रामचरण तेजा को वापस जाते देखा गया। लेकिन तेजा ने थोड़ी देर बाद वापस आकर अपना वोट डाला।

कार्तिक ने बाद में कहा कि वो चिरंजीवी का सम्मान करते हैं। लेकिन उन्हें लाइन में आना चाहिए था। ना तो वो 65 साल से ऊपर के हैं और ना ही विकलांग हैं।

अगर हर नागरिक अपने अधिकारों के लिए सचेत रहे तो कितना भी बड़े से बड़ा रसूखदार क्यों ना हो, उसे नियम-कायदों का पालन करना पड़ेगा।

Tags:

Facebook Comments